B.L. Lalitamba/बी.एल. ललितांबा
लोगों की राय

लेखक:

बी.एल. ललितांबा
जन्म : 6 मार्च, 1943 को मैसूर में।
रचना-संसार : कुल 50 ग्रंथ प्रकाशित, जिनमें तुलनात्मक साहित्य एवं अनुवाद, फिर नया दिन (काव्य संकलन) तथा वचन पद संपदा-त्रिभाषा कोश प्रमुख हैं। कन्नड़ से हिंदी अनुवाद ‘वचनोद्यान’, ‘कुमारव्यास भारत’ तथा ‘कुवेम्पु संचय’ एवं हिंदी से कन्नड़ अनुवाद ‘नवनिर्माणदेडेगे’ (जे.पी. के भाषणों का संग्रह), ‘मेरे पितामह महात्मा गांधी :आजादी के नीतिकार’ (श्रीमती सुमित्रा गांधी कुलकर्णी द्वारा रचित) का ‘गांधी नन्न तात’ शीर्षक से अनुवाद तथा ‘अज्ञेय’ मूल लेखक पद्मश्री प्रो. रमेशचंद्र शाह। 200 से ज्यादा शोध लेख प्रकाशित।

पुरस्कार-सम्मान : नौवें विश्व हिंदी सम्मेलन में विश्व हिंदी सम्मान (2012), कुवेम्पु भाषा भारती वार्षिक सम्मान (2013), बिहार राष्ट्रभाषा परिषद्, पटना का ‘साहित्य साधना सम्मान’, उार प्रदेश हिंदी संस्थान का ‘साहित्य सौहार्द सम्मान’ (1988), भारतीय अनुवाद परिषद् का द्विवागीश सम्मान (1994) सहित लगभग दो दर्जन सम्मान प्राप्त।

कन्नड़ की लोकप्रिय कहानियाँ

बी.एल. ललितांबा

मूल्य: Rs. 350

कन्नड़ के आधुनिक कथाकारों की कृतियाँ   आगे...

 

  View All >>   1 पुस्तकें हैं|