Doodhnath Singh/दूधनाथ सिंह
लोगों की राय

लेखक:

दूधनाथ सिंह
जन्म – 17 अक्टूबर, 1936 उत्तर प्रदेश के बलिया ज़िले के एक छोटे-से गाँव सोबन्धा में।
शिक्षा – एम.ए. (हिन्दी साहित्य) इलाहाबाद विश्वविद्यालय।
जीविका – कुछ दिनों (1960-62) तक कलकत्ता में अध्यापन। फिर इलाहाबाद विश्वविद्यालय, हिन्दी विभाग में। अब सेनावृत्ति।
लेखन – सन् 1960 के आसपास से।
कृतियाँ – आख़िरी क़लाम, निष्कासन (उपन्यास); सपाट चेहरे वाला आदमी, सुखान्त, प्रेमकथा का अन्त न कोई, माई का शोकगीत, धर्मक्षेत्रे कुरुक्षेत्रे (कहानी-संग्रह); कथा समग्र (सम्पूर्ण कहानियाँ); मनो अंधकारं (आख्यान); यमगाथा (नाटक); अपनी शताब्दी के नाम, एक और भी आदमी है (कविता-संग्रह); सुरंग से लौटते हुए (लम्बी कविता); निराला : आत्महन्ता आस्था (निराला की कविताओं पर एक सम्पूर्ण किताब); लौट आ, ओ धार ! (संस्मरण); कहा-सुनी (साक्षात्कार और आलोचना); महादेवी (महादेवी की सम्पूर्ण रचनाओं पर एक किताब)।
सम्पादन – तारापथ (सुमित्रानंदन पंत की कविताओं का संचयन), दो शरण (निराला की भक्ति कविताओं का संचयन)

निराला आत्महन्ता आस्था

दूधनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 325

निराला : आत्महन्ता आस्था - दरअसल एक नये कवि कथाकार द्वारा एक दूसरे कवि का आत्मीय विश्लेषण है   आगे...

निष्कासन

दूधनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 150

प्रस्तुत है श्रेष्ठतम उपन्यास...   आगे...

प्रेम कथा का अन्त न कोई

दूधनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 50

ये कहानियां ज्यादातर विफल प्रेम विफल दाम्पत्य पर आधारित हैं...   आगे...

महादेवी

दूधनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 600

यह किताब महादेवी की लिखत-पढ़त, उनके चित्रों-रेखांकनों, उनके जीवन-वृत्त और उनके बारे में लेखक की संस्कृतियों के भीतर से उनको समझने की एक निजी कोशिश है।   आगे...

माई का शोकगीत

दूधनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 95

‘माई का शोकगीत’ समेत दूधनाथ सिंह की पाँच कहानियों का संग्रह   आगे...

लौट आ ओ धार

दूधनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 150

शमशेर का जीवन और उनकी कविता -दोनों ही अति ठोस, कटु सत्य से संधानित, अति-साधारण को असाधारण पारलौकिकता तक उठा देने के राग से अनुरंजित हैं   आगे...

 

 < 1 2  View All >>   16 पुस्तकें हैं|