E. Vijaylaxmi/ई. विजयलक्ष्मी
लोगों की राय

लेखक:

ई. विजयलक्ष्मी

उचक्का

ई. विजयलक्ष्मी

मूल्य: Rs. 225

1989 के साहित्य अकादेमी पुरस्कार से सम्मानित यह आत्मकथा बिना आत्मदया या किसी किस्म की आत्मश्लाघा के हमारे सामाजिक यथार्थ को सामने लाती है।   आगे...

दुभंग

ई. विजयलक्ष्मी

मूल्य: Rs. 150

30 सितम्बर, 1993 को महाराष्ट्र के किल्लारी गाँव, जिला लातूर में आए भूकम्प पर आधारित उपन्यास   आगे...

वकील पारधी

ई. विजयलक्ष्मी

मूल्य: Rs. 350

ब्रिटिश शासनकाल में जिन समुदायों को अपराधी के श्रेणी में सूचीबद्ध किया गया था, उनमें एक पारधी समाज भी है।   आगे...

 

  View All >>   3 पुस्तकें हैं|