Girindra Nath Jha/गिरीन्द्र नाथ झा
लोगों की राय

लेखक:

गिरीन्द्र नाथ झा

पांच साल से भी ज्यादा समय देश के प्रतिष्ठित न्यूज चैनलों में घटना को खबर की शक्ल देने के बाद अब बिहार के अपने गाँव में नए ढंग-ढर्रे से खेती-किसानी और अपने ब्लॉग अनुभव पर लेखन। दिल्ली विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में ग्रेजुएट। वाईएम्सीए से पत्रकारिता में डिप्लोमा। इसी कड़ी में सीएसडीएस-सराय की फैलोशिप पर प्रवासी इलाकों में टेलेफोन बूथ पर रिसर्च। लप्रेक लेखन में ग्रामीण भारत के रंग भरनेवाले, फनीश्वरनाथ रेणु की भाषा की खुशबू रचनेवाले अनुभूत शैलीकार।

इश्क में माटी सोना

गिरीन्द्र नाथ झा

मूल्य: Rs. 125

  आगे...

 

  View All >>   1 पुस्तकें हैं|