Kalicharan Snehi/कालीचरण स्नेही
लोगों की राय

लेखक:

डॉ. कालीचरण स्नेही

डॉ. कालीचरण स्नेही
जन्म : 20 मार्च 1957 ग्राम- कठऊपहाड़ी, टीकमगढ़ (म.प्र.)
शिक्षा : एम.ए., पी-एच. डी., डी लिट्. (हिन्दी)
1988 से उच्चतर कक्षाओं में अध्ययन-अध्यापन और शोधकार्य एवं शोध निर्देशन जारी।
विशेषज्ञता : दलित साहित्य, प्रवासी साहित्य एवं हिन्दी साहित्य का इतिहास विषय पर लेखन।
पुरस्कार/सम्मान:
• डॉ. अम्बेडकर राष्ट्रीय पुरस्कार, नई दिल्ली 1994 |
• म.प्र. दलित साहित्य अकादमी, उज्जैन का शिखर सम्मान, 1994 ।
• सुनसरी (धरान) नेपाल 1994 में दलित साहित्य का सम्मान।
• भारतीय दलित साहित्य अकादमी, लन्दन (यू के.) द्वारा 2001 में सम्मानित । 
• अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी समिति न्यूयार्क (अमेरिका) द्वारा 2008 में सम्मानित ।
•  लिटरेचर हाउस, ओस्लो, (नार्वे) 2008 में सम्मानित।
• उच्च शिक्षा विभाग,उ.प्र. शासन द्वारा 2010 में रू. एक लाख के 'सरस्वती सम्मान' से सम्मानित।
• अम्बेडकर महासभा, लखनऊ (उ.प्र.) द्वारा 06 दिसम्बर, 2015 में 'डॉ. अम्बेडकर रत्न' सम्मान से राज्यपाल द्वारा सम्मानित।
विदेश यात्रा : नेपाल 1994 और 2014 ,लन्दन (ब्रिटेन) 2001, न्यूयार्क (अमेरिका) 2007 में विश्व हिन्दी सम्मेलन में सहभागिता, ओस्लो (नार्वे) 2008, अन्तर्राष्ट्रीय हिन्दी संगोष्ठी, वाशिंगटन U.S.A. 2008, जोहान्सबर्ग,केपटाउन, डर्बन (दक्षिण अफ्रीका) 2013 में विश्व हिन्दी सम्मेलन में सहभागिता, न्यूयार्क (अमेरिका) की यात्रा, अप्रैल 2016, मॉरीशस यात्रा 2018
आलोचनात्मक साहित्य : शताब्दी-सन्दर्भ (1991), भारत रत्न डॉ. अम्बेडकर (1991), पं. बनारसी दास चतुर्वेदीः व्यक्तित्व और कृतित्व (1994 द्वि.सं. 2009), सर्वेश्वर और उनका साहित्य (1997), हिन्दी साहित्य में दलित अस्मिता (2005), काशीराम चमत्कार (2011), डॉ. अम्बेडकर : वैचारिकी और दलित विमर्श (2012), दलित विमर्श और हिन्दी दलित कहानियाँ (2020)
हिन्दी दलित काव्य कृतियाँ : आरक्षण अपना-अपना (2007), आधुनिक बुन्देली काव्य(2007), जयभारत-जयभीम (2007 द्वि.सं. 2008), दलित विमर्श और हिन्दी दलित काव्य (2008), सुनो कामरेड (2009), कविता का लोकतन्त्र (2010), सोन चिरैया (बुन्देली दलित काव्य 2012),एवरेस्ट (2012 द्वि.सं. 2020)|
दलित कहानी संकलन : दलित-दुनिया (2009)
पत्रिका-सम्पादन : अम्बेडकर कल्चर (त्रैमासिक)
सम्प्रति :
प्रोफेसर एवं पूर्व विभागाध्यक्ष,
हिन्दी तथा आधुनिक भारतीय भाषा विभाग,
लखनऊ विश्वविद्यालय,
लखनऊ (उ.प्र.)-226007
स्थायी निवास : 'नालन्दा'-45 शिवम सिटी, निकट सेक्टर-6, जानकीपुरम् विस्तार, लखनऊ-226031 (उत्तर प्रदेश) भारत। दूरभाष : 0522-2772255,
मो.  :
09415548256
ई-मेल : profkcsnehi@gmail.com

डॉ अम्बेडकर : वैचारिकी एवं दलित विमर्श

डॉ. कालीचरण स्नेही

मूल्य: Rs. 700

डॉ. अम्बेडकर : वैचारिकी एवं दलित विमर्श

  आगे...

दामोदर मोरे की कविताओं में आम्बेडकरवादी दृष्टि

डॉ. कालीचरण स्नेही

मूल्य: Rs. 600

दामोदर मोरे की कविताओं में आम्बेडकरवादी दृष्टि

  आगे...

हिन्दी का प्रवासी साहित्य

डॉ. कालीचरण स्नेही

मूल्य: Rs. 400

हिन्दी का प्रवासी साहित्य

  आगे...

 

  View All >>   3 पुस्तकें हैं|