M N Shrinivas/एम एन श्रीनिवास
लोगों की राय

लेखक:

एम एन श्रीनिवास

एम.एन. श्रीनिवास इंस्टीट्यूट फॉर सोशल एंड इकॉनॉमिक चेंज बंगलोर की समाजशास्त्र इकाई के सीनियर फैलो और प्रमुख थे। वे ऑक्स फोर्ड विश्वविद्यालय में (1948-51) भारतीय समाजशास्त्र के व्याख्याता, एम.एस. विश्वविद्यालय, बड़ौदा में (1952-59) और दिल्ली विश्वविद्यालय में (1952-72) समाजशास्त्र के प्रोफेसर रहे। 1953-54 में वह मैनचेस्टर विश्वविद्यालय के साइमन सीनियर रिसर्च फैलो और 1956-57 में ब्रिटेन और अमेरिका में रॉक फैलर फैलो रहे।

वे पहले भारतीय हैं जिन्हें रॉयल एन्थ्रॉपॉलॉजिकल इंस्टीट्यूट ऑफ ग्रेट ब्रिटेन एंड आयरलैंड की मानद फैलोशिप मिली। इसके अलावा, 1963 में लेखक कुछ समय के लिए बर्कले, कैलिफोर्निया में टैगोर लैक्चरर और डिपार्टमेंट ऑफ सोशल एन्थ्रॉपॉलॉजी एंड सोशियोलॉजी के साइमन विजि़टिंग प्रोफेसर रहे।

प्रकाशन : मैरिज एंड फैमिली लाइफ इन मैसूर, द रिमेम्बर्ड विलेज और रिलिजन एंड सोसायटी अमंग द कुग्र्स ऑफ साउथ इंडिया, इंडियाज विलेजेज़ और डायमेंशंस ऑफ सोशल चेंज इन इंडिया का सम्पादन।
सम्मान : रॉयल एन्थ्रॉपॉलॉजिकल इंस्टीट्यूट ऑफ ग्रेट ब्रिटेन एंड आयरलैंड का रिवर्स मेमोरियल मेडल (1955), भारतीय नृतत्त्वशास्त्र में योगदान के लिए शरतचन्द्र रॉय मेमोरियल गोल्ड मेडल (1958) और जी.एस. धुर्वे अवार्ड (1978)। शिकागो, नाइस और मैसूर विश्वविद्यालयों की मानद उपाधियाँ प्राप्त हुई हैं।

देहावसान : 30 नवम्बर, 1999।

आधुनिक भारत में जाति

एम एन श्रीनिवास

मूल्य: Rs. 400

  आगे...

आधुनिक भारत में सामाजिक परिवर्तन

एम एन श्रीनिवास

मूल्य: Rs. 395

आधुनिक भारत में सामाजिक परिवर्तन...

  आगे...

भारत के गांव

एम एन श्रीनिवास

मूल्य: Rs. 250

भारत के गाँव जिज्ञासु, सामान्य जन और ग्रामीण भारत को जानने वाले विशेषज्ञों के लिए ग्रामीण भारत का परिचय उपलब्ध करवाती है।   आगे...

यादों से रचा गाँव

एम एन श्रीनिवास

मूल्य: Rs. 225

यादों से रचा गाँव अतीत के दुर्घटनाग्रस्त ब्यौरों को सामने लाने के रचनात्मक संकल्प का परिणाम है।   आगे...

 

  View All >>   4 पुस्तकें हैं|