Mridula Garg/मृदुला गर्ग
लोगों की राय

लेखक:

मृदुला गर्ग
जन्म : 25 अक्टूबर, 1938, कलकत्ता में।

शिक्षा : अर्थशास्त्र में एम. ए. (दिल्ली विश्वविद्यालय)

पहली कहानी सन् 1970-71 में रची गयी तो पहला उपन्यास 1975 में। इसके बाद अनेक कहानी संग्रहों और उपन्यासों का प्रकाशन। साहित्य के अलावा पर्यावरण, सामाजिक संदर्भों एवं स्त्री विमर्श पर भी लेख-स्तंभ आदि का नियमित लेखन। उन्होंने इन्हीं विषयों पर अमरीका और यूरोप के अनेक विश्वविद्यालयों तथा संयुक्त राष्ट्र संघ के संस्थानों में व्याख्यान भी दिये हैं।

प्रकाशित कृतियां उपन्यास : उसके हिस्से की धूप, वंशज, चित्तकोबरा, अनित्य, मैं और मैं, कठगुलाब

कहानी संग्रह : कितनी कैदें, टुकड़ा-टुकड़ा आदमी, डैफोडिल जल रहे हैं, ग्लेशियर से, उर्फ सैम, शहर के नाम, समागम, चर्चित कहानियां नाटक : एक और अजनबी, जादू का कालीन, तीन कैदें

निबंध संग्रह : रंग-ढंग, चुकते नहीं सवाल कुछ कृतियों का अंग्रेज़ी तथा अन्य विदेशी भाषाओं में अनुवाद। ‘चित्तकोबरा' उपन्यास जर्मन व अंग्रेज़ी भाषा में अनूदित।

पुरस्कार : हिंदी अकादमी, दिल्ली से साहित्यकार सम्मान, उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान, लखनऊ से साहित्य भूषण पुरस्कार एवं हैल्मन हैमट ग्रांट 2001, ह्यूमन राइट्स वाच, न्यूयार्क प्राप्त । ‘उसके हिस्से की धूप' (उपन्यास) व 'जादू का कालीन' (नाटक) मध्य प्रदेश साहित्य परिषद, भोपाल से पुरस्कृत।

मैं और मैं

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 250

मृदुला गर्ग का एक अद्भुत,मौलिक व कलात्मक उपन्यास...   आगे...

मैं और मैं

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 400

मैं और मैं कहानी है मृदुला गर्ग के दो कलात्मक और सशक्त पात्रों–कौशल कुमार और माधवी–के बनते–टूटते सामाजिक और नैतिक आग्रहों की।   आगे...

वसु का कुटुम

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

शहर के नाम

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 90

प्रस्तुत है शहर के नाम कहानी संग्रह...   आगे...

समागम

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 150

  आगे...

स्थगित काल

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

हर हाल बेगाने

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 295

हर हाल बेगाने...   आगे...

हरी बिन्दी

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

 

 < 1 2 3  View All >>   28 पुस्तकें हैं|