Mridula Garg/मृदुला गर्ग
लोगों की राय

लेखक:

मृदुला गर्ग
जन्म : 25 अक्टूबर, 1938, कलकत्ता में।

शिक्षा : अर्थशास्त्र में एम. ए. (दिल्ली विश्वविद्यालय)

पहली कहानी सन् 1970-71 में रची गयी तो पहला उपन्यास 1975 में। इसके बाद अनेक कहानी संग्रहों और उपन्यासों का प्रकाशन। साहित्य के अलावा पर्यावरण, सामाजिक संदर्भों एवं स्त्री विमर्श पर भी लेख-स्तंभ आदि का नियमित लेखन। उन्होंने इन्हीं विषयों पर अमरीका और यूरोप के अनेक विश्वविद्यालयों तथा संयुक्त राष्ट्र संघ के संस्थानों में व्याख्यान भी दिये हैं।

प्रकाशित कृतियां उपन्यास : उसके हिस्से की धूप, वंशज, चित्तकोबरा, अनित्य, मैं और मैं, कठगुलाब

कहानी संग्रह : कितनी कैदें, टुकड़ा-टुकड़ा आदमी, डैफोडिल जल रहे हैं, ग्लेशियर से, उर्फ सैम, शहर के नाम, समागम, चर्चित कहानियां नाटक : एक और अजनबी, जादू का कालीन, तीन कैदें

निबंध संग्रह : रंग-ढंग, चुकते नहीं सवाल कुछ कृतियों का अंग्रेज़ी तथा अन्य विदेशी भाषाओं में अनुवाद। ‘चित्तकोबरा' उपन्यास जर्मन व अंग्रेज़ी भाषा में अनूदित।

पुरस्कार : हिंदी अकादमी, दिल्ली से साहित्यकार सम्मान, उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान, लखनऊ से साहित्य भूषण पुरस्कार एवं हैल्मन हैमट ग्रांट 2001, ह्यूमन राइट्स वाच, न्यूयार्क प्राप्त । ‘उसके हिस्से की धूप' (उपन्यास) व 'जादू का कालीन' (नाटक) मध्य प्रदेश साहित्य परिषद, भोपाल से पुरस्कृत।

10 प्रतिनिधि कहानियाँ (मृदुला गर्ग)

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 195

प्रस्तुत हैं मृदुला गर्ग की दस प्रतिनिधि कहानियाँ   आगे...

Chittcobra

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 160

The novel is too successful as a whole, too intricate and subtle to be segmented in any way.   आगे...

अनित्य

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 400

स्वतंत्रता आंदोलन के अहिंसात्मक और क्रांतिकारी, दोनों रूपों की पृष्ठभूमि पर लिखा गया उपन्यास ‘अनित्य’

  आगे...

अनित्य (अजिल्द)

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 250

  आगे...

अनित्य (अजिल्द)

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 250

स्वतंत्रता आंदोलन के अहिंसात्मक और क्रांतिकारी, दोनों रूपों की पृष्ठभूमि पर लिखा गया उपन्यास ‘अनित्य’   आगे...

उसके हिस्से की धूप

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 175

यह एक प्रेम कहानी तो है, पर प्रेम इस कहानी की समस्या नहीं है...   आगे...

कठगुलाब

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 270

एक बड़ा और कड़े बौद्धिक अनुशासन में रचा गया उपन्यास ‘कठगुलाब’...   आगे...

कर लेंगे सब हजम

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 200

  आगे...

कैद-दर-कैद

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

खेद नहीं है

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 225

ये सभी लेख पिछले कुछ वर्षों से ‘इंडिया टुडे’ पत्रिका में ‘कटाक्ष’ स्तंभ के अंतर्गत प्रकाशित हो रहे हैं...   आगे...

चर्चित कहानियाँ - मृदुला गर्ग

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 150

  आगे...

चित्तकोबरा

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 195

बहुचर्चित लेखिका मृदुला गर्ग का विवादास्पद उपन्यास...   आगे...

चुकते नहीं सवाल

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

जादू का कालीन

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 200

इस नाटक को 1993 में मध्य प्रदेश साहित्य परिषद् का सेठ गोविन्द दास पुरस्कार मिल चूका है।   आगे...

जूते का जोड़ गोभी का तोड़

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 175

इंसान की कमज़ोरी उसका अपना मन है, वही उसे लाचार बनाता है...   आगे...

प्रतिनिधि कहानियाँ: मृदुला गर्ग

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 150

मृदुला गर्ग की कहानियाँ पाठक के लिए इतना 'स्पेस' देती हैं कि आप लेखक को गाइड बना तिलिस्म में नहीं उतर सकते, इसे आपको अपने अनुसार ही हल करना पड़ता है।   आगे...

बिसात तीन बहनें तीन आख्यान

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 395

  आगे...

मिलजुल मन

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 595

  आगे...

मृदुला गर्ग की यादगारी कहानियां

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 135

प्रस्तुत संकलन में संकलित कहानियां भारतीय मन के खुलासे की कहानियां हैं, जो कहीं अपनी जड़ों से जुड़ने की ललक रखती हैं, तो कहीं मुखौटों के उतरने की विवशता...   आगे...

मेरे देश की मिट्टी, अहा

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 120

त्रासदी को झेलकर, निर्वेद तक पहुंचने के लिए निस्संगता की ज़रूरत होती है, इसी निस्संगता को अर्जित-सर्जित करती कहानियां।   आगे...

मैं और मैं

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 250

मृदुला गर्ग का एक अद्भुत,मौलिक व कलात्मक उपन्यास...   आगे...

मैं और मैं

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 400

मैं और मैं कहानी है मृदुला गर्ग के दो कलात्मक और सशक्त पात्रों–कौशल कुमार और माधवी–के बनते–टूटते सामाजिक और नैतिक आग्रहों की।   आगे...

वसु का कुटुम

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

शहर के नाम

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 90

प्रस्तुत है शहर के नाम कहानी संग्रह...   आगे...

समागम

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 150

  आगे...

स्थगित काल

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

हर हाल बेगाने

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 295

हर हाल बेगाने...   आगे...

हरी बिन्दी

मृदुला गर्ग

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

 

  View All >>   28 पुस्तकें हैं|