भटके मेरा मन बंजारा - बिमला रावर सक्सेना Bhatke Mera Man Banjara - Hindi book by - Bimala Raavar saxsena
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> भटके मेरा मन बंजारा

भटके मेरा मन बंजारा

बिमला रावर सक्सेना

प्रकाशक : अनुराधा प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :128
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 10158
आईएसबीएन :9789385083211

Like this Hindi book 0

प्रस्तुत पुस्तक में कविताओं में जीवन की दशों–दिशाओं का और मनोभावों का सरल और ग्राह्य शब्दांकन आप तक पहुँच रहा है।

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

प्रस्तुत पुस्तक में कविताओं में जीवन की दशों–दिशाओं का और मनोभावों का सरल और ग्राह्य शब्दांकन आप तक पहुँच रहा है। कविताओं में मात्र शब्द संयोजन भर नहीं है वरन जीवन के सफ़र में साधे संजोये बीज मंत्र हैं। इसमें विभिन्न विषयों का गंभीरता पूर्वक बहुत ही मार्मिक चित्रण किया गया है।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book