रेखाएँ दुःख की - विष्णुचन्द्र शर्मा Rekhayen Dukh Ki - Hindi book by - Vishnuchandra Sharma
लोगों की राय

उपन्यास >> रेखाएँ दुःख की

रेखाएँ दुःख की

विष्णुचन्द्र शर्मा

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2010
पृष्ठ :88
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 10327
आईएसबीएन :9788126319435

Like this Hindi book 0

वरिष्ठ रचनाकार विष्णुचंद्र शर्मा जिन अनुभवों को अपनी रचनाओं में रचते हैं वे प्रचलित पद्धति से नितांत हटकर होते हैं…

वरिष्ठ रचनाकार विष्णुचंद्र शर्मा जिन अनुभवों को अपनी रचनाओं में रचते हैं वे प्रचलित पद्धति से नितांत हटकर होते हैं। 'रेखाएँ दुःख की' में उपस्थित दो उपन्यासिकाएँ विष्णुचंद्र शर्मा के अनुभव संसार और अभिव्यक्ति कौशल को प्रकट करती हैं। 'रेखाएँ दुःख की' और 'बिगड़ी तस्वीरों का एलबम' को अलग-अलग पढने के साथ मिलकर भी पढ़ा जा सकता है।

प्रथम पृष्ठ

लोगों की राय

No reviews for this book