मुक्तिबोध एक व्यक्तित्व सही की तलाश में - कृष्णा सोबती Muktibodh Ek Vyaktitwa Sahi Ki Talash Main - Hindi book by - Krishna Sobti
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> मुक्तिबोध एक व्यक्तित्व सही की तलाश में

मुक्तिबोध एक व्यक्तित्व सही की तलाश में

कृष्णा सोबती

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2017
पृष्ठ :124
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 11002
आईएसबीएन :9788126730421

Like this Hindi book 0

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

हिंदी कविता की शीर्षक लेखनी-मुक्तिबोध। आत्मसमीक्षा और जगत-विवेचन के निष्ठुर प्रस्तावक। उन्होंने एक दुर्गम पथ की ओर संकेत किया, जिससे होकर हमें अनुभव और अभिव्यक्ति की सम्पूर्णता तक जाना था; क्या हम जा सके ? हिंदी कि वरिष्ठतम उपस्थिति कृष्णा सोबती, जिनकी आँखों ने लगभग एक सदी का इतिहास साक्षात देखा; और जो आज इक्कीसवीं सदी के दूसरे दशक में आसपास फैले समय से उतनी ही व्यथित हैं, जितनी अपने समय और समाज में निपट अकेली, मुक्तिबोध की रूह रही होगी - मानवता के विराट और सर्वसमावेशी उज्जवल स्वप्न के लगातार दूर होते जाने से कातर और क्रुद्ध। यह मुक्तिबोध का एक अनौपचारिक पाठ है जिसे कृष्णा जी ने अपने गहरे संवेदित मन से किया है। भारतीय इतिहास के दो समय यहाँ रूबरू हैं।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book