संचार के मूल सिद्धान्त - ओमप्रकाश सिंह Sanchar Ke Mool Siddhant - Hindi book by - Omprakash Singh
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> संचार के मूल सिद्धान्त

संचार के मूल सिद्धान्त

ओमप्रकाश सिंह

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2018
आईएसबीएन : 9789386863614 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :303 पुस्तक क्रमांक : 12259

Like this Hindi book 0

संचार एक आधारभूत सामाजिक विज्ञान है। इसी से जुड़कर समस्त सामाजिक विज्ञान अपनी विकास यात्रा में है। संचार को हम सामाजिक विज्ञानों एवं धरती के समस्त ज्ञान की प्राणवायु भी कह सकते हैं। यह पुस्तक संचार के प्रकार, प्रक्रिया तथा विविध सिद्धान्तों पर केन्द्रित है। संचार और अन्य सामाजिक विज्ञानों के परस्पर सम्बन्धों का विस्तृत विवेचन प्रथम बार इस पुस्तक में प्रस्तुत है।

संचार के क्षेत्र एवं उपयोगिता के विवेचन के साथ-साथ संचार के विभिन्न प्रकारों का व्यापक वर्णन भी इसमें है। इस पुस्तक की सहायता से अध्येता आभ्यन्तर संचार, अन्तर्वैयक्तिक संचार, समूह संचार एवं जनसंचार के अतिरिक्त ग्रामीण तथा परम्परागत संचार के सम्बन्ध में भी व्यापक दृष्टि का विकास कर सकता है। उक्त आधारभूत तथ्यों के ज्ञान के साथ-साथ इस पुस्तक के द्वारा भारतीय संचार सिद्धान्त का भी ज्ञान सरलतापूर्वक मिल सकता है।

यह पुस्तक संचार एवं पत्राकारिता के अध्येताओं के अतिरिक्त भाषा-विज्ञान, मानवशास्त्रा तथा अन्य सामाजिक विज्ञानों के अध्येताओं के लिए उपयोगी एवं महत्वपूर्ण है। इस पुस्तक की सहायता से संचार को समग्र रूप में समझा तथा आत्मसात् किया जा सकता है। उक्त विशेषताओं के कारण यह पुस्तक संचार के अध्येताओं के लिए उपयोगी एवं महत्वपूर्ण सिद्ध होगी, ऐसी धारणा एवं विश्वास के साथ इस पुस्तक को आपके बीच प्रस्तुत करते हैं।

To give your reviews on this book, Please Login