चम्पारण सत्याग्रह का गणेश - अजीत प्रताप सिंह Champaran Satyagrah Ka Ganesh - Hindi book by - Ajit Pratap Singh
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> चम्पारण सत्याग्रह का गणेश

चम्पारण सत्याग्रह का गणेश

अजीत प्रताप सिंह

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2018
पृष्ठ :164
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 12362
आईएसबीएन :9789388211079

Like this Hindi book 0

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

जब ‘कृष्णकली’ लिख रही थी तब लेखनी को विशेष परिश्रम नहीं करना पड़ा, सब कुछ स्वयं ही सहज बनता चला गया था। जहाँ कलम हाथ में लेती, उस विस्तृत मोहक व्यक्तित्व को, स्मृति बड़े अधिकारपूर्ण लाड़-दुलार से खींच, सम्मुख लाकर खड़ा कर देती, जिसके विचित्र जीवन के रॉ-मैटीरियल से मैंने वह भव्य प्रतिमा गढ़ी थी। ओरछा की मुनीरजान के ही ठसकेदार व्यक्तित्व को सामान्य उलट-पुलटकर मैंने पन्ना की काया गढ़ी थी। जब लिख रही थी तो बार-बार उनके मांसल मधुर कंठ की गूँज कानों में गूँज उठती। वही विस्तृत मधुर गूँज, उनके नवीन व्यक्तित्व के साथ, ‘कृष्णकली’ में उतर आई।

— शिवानी

लोगों की राय

No reviews for this book