अनुवाद अनुसृजन - ए अरविंदाक्षन Anuvad Anusrijan - Hindi book by - A Arvindakshan
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> अनुवाद अनुसृजन

अनुवाद अनुसृजन

ए अरविंदाक्षन

प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2019
पृष्ठ :127
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 12381
आईएसबीएन :9788183619127

Like this Hindi book 0

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

प्रौद्योगिकी के प्रचुर विकास के साथ अनुवाद का एक नया आयाम सामने आ गया और वह है मशीनी अनुवाद। कई संस्थाएँ देश-विदेश में इस नई प्रौद्योगिकी के विकास में योगदान दे रही हैं। मशीनी अनुवाद की पूरी प्रक्रिया तथा तत्सम्बन्धी समस्याओं का बहुत बड़ा क्षेत्र है जो आजकल अनुवाद के क्षेत्र में नूतन अविष्कारों के साथ सामने आ रहा है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी के विकास के साथ मशीनी अनुवाद भी विकसित होता जा रहा है। मशीनी अनुवाद के विकास ने तथा उसकी अनन्त सम्भावनाओं ने अनुवाद-कार्य को प्रोफेशनल स्वरुप प्रदान किया है। यही नहीं, अनुवाद के प्रोफेशनल स्वरुप को देखते हुए ऐसा ही लगता है कि यह एक इंडस्ट्री के रूप में विकसित हो सकता है। भारत जैसे बहुभाषी देश में इसकी सम्भावनाएं अधिक हैं। यह ग्रन्थ अनुवाद को दो तरह से देख रहा है—अकादमिक तथा प्रोफेशनल स्तर से। अनुवाद में ये दोनों मुख्य हैं। मेरा यही विचार है कि अनुवाद के विद्यार्थियों, शोधार्थियों एवं अध्यापकों के लिए यह ग्रन्थ उपयोगी सिद्ध होगा।

- भूमिका से


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book