सिख गुरुओं का पुण्य स्मरण - हजारी प्रसाद द्विवेदी Sikkh Guruon Ka Punysmaran - Hindi book by - Hazari Prasad Dwivedi
लोगों की राय

धर्म एवं दर्शन >> सिख गुरुओं का पुण्य स्मरण

सिख गुरुओं का पुण्य स्मरण

हजारी प्रसाद द्विवेदी

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2007
पृष्ठ :86
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 12456
आईएसबीएन :9788126714100

Like this Hindi book 0

आचार्य हजारीप्रसाद द्विवेदी ने इस पुस्तक में गुरु नानक देव व अर्जुन देव आदि सिख गुरुओं के साहित्यिक पक्ष पर अपने विचार व्यक्त किए हैं। आचार्य द्विवेदी ने इस पुस्तक में गुरुनानक देव के व्यक्तित्व, सन्देश और महिमा के साथ-साथ शिष्य परम्परा और गुरू अर्जुन देव द्वारा ग्रंथ साहिब के संपादन पर प्रकाश डालते हुए गुरु गोविंद सिंह के जीवन-दर्शन, दशम ग्रंथ तथा भारतीय साहित्य में दशम ग्रंथ के स्थान के बारे में गंभीरतापूर्वक विचार किया है। निश्चय ही यह पुस्तक शोधार्थियों और सिक्खों के धार्मिक साहित्य में रुचि रखनेवाले अध्येताओं के लिए उपयोगी होगी।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book