अद्भुत ब्रह्माण्ड - चंद्र मणि सिंह Adbhut Brahmand - Hindi book by - Chandra Mani Singh
लोगों की राय

पर्यावरण एवं विज्ञान >> अद्भुत ब्रह्माण्ड

अद्भुत ब्रह्माण्ड

चंद्र मणि सिंह

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2015
आईएसबीएन : 9788180319372 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :364 पुस्तक क्रमांक : 13031

Like this Hindi book 0

अद्भुत ब्रह्माण्ड' एक ऐसी पुस्तक है जो ब्रह्माण्ड की अन्तर्गुम्फित सत्ताओं के रहस्य के विलोम में खोज की वह यथार्थवादी भूमिका रेखांकित करती है

यह पुस्तक ब्रह्माण्ड के बनने की जिज्ञासा, बने रहने की उम्मीद और एक दिन उसके खत्म होने की आशंकाओं को तमाम वैज्ञानिक साक्ष्यों और आयामों के परिप्रेक्ष्य में सहज-सरल तरी$के से प्रस्तुत करती है। ब्रह्माण्ड के रहस्यों, खोजों और उसके क्रिया-कलापों तथा घटनाओं में उलझने-उलझाने के बजाय उनको सुलझने-सुलझाने की दृष्टि से परिभाषित करने का अद्भुत मिसाल पेश करती है।
लेखक ने न्यूटन, आइन्स्टीन से लेकर आज के वैज्ञानिकों तक के नियमों, सिद्धान्तों और खोजों के परिप्रेक्ष्य में ब्रह्माण्ड की उत्पत्ति एवं विकास-क्रम, उसके विशाल होने की सम्भावना, आकाशगंगाओं में घटनाओं के चक्र आदि को काल के भीतर और बाहर देखने के लिए कैनवस की सफल रचना की है। साथ ही, यह पुस्तक ब्रह्माण्ड में कृष्ण पदार्थ और कृष्ण ऊर्जा के अस्तित्व तथा महत्त्व; सममिति और दिक् का स्वरूप; महाविस्फोट की पुनर्रचना; बहुब्रह्माण्डीय परिकल्पना; क्वाण्टम-सिद्धान्त; प्रकृति के मौलिक सिद्धान्तों का एकीकरण; सूत्रिका-सिद्धान्त की भूमिका; ब्रह्माण्डीय संयोग; सौन्दर्यमयी ज्यामिति; गुरुत्व एवं ब्रह्माण्ड आदि पाठों के अन्तर्गत विज्ञान-सम्मत सूत्रों को विश्लेषित और परिभाषित करने की अभिनव दृष्टि प्रदान करती है।
'अद्भुत ब्रह्माण्ड' एक ऐसी पुस्तक है जो ब्रह्माण्ड की अन्तर्गुम्फित सत्ताओं के रहस्य के विलोम में खोज की वह यथार्थवादी भूमिका रेखांकित करती है जो ब्रह्माण्डिकी में अभिरुचि रखनेवाले पाठकों को अपने वर्तमान और भविष्य के प्रति चेतना-सम्पन्न तो बनाती ही है, हिन्दी में विज्ञान विषयक पुस्तकों की कमी की भरपाई भी करती है।

To give your reviews on this book, Please Login