मीडिया की बदलती भाषा - अजय कुमार सिंह Media Ki Badalti Bhasha - Hindi book by - Ajay Kumar Singh
लोगों की राय

पत्र एवं पत्रकारिता >> मीडिया की बदलती भाषा

मीडिया की बदलती भाषा

अजय कुमार सिंह

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2012
पृष्ठ :222
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 13215
आईएसबीएन :9788180317071

Like this Hindi book 0

प्रस्तुत पुस्तक में मीडिया की बदलती हिन्दी भाषा का विश्लेषण कर ऐसी हिन्दी भाषा को स्थापित करने का प्रयास किया गया है, जो प्रौद्योगिकी के साथ मिलकर चले और आम जनमानस की भाषा बन सके

हिन्दी भाषा का जो स्वरूप आज हमारे सामने है उसके निर्माण में लगभग एक हजार साल लगे हैं और हम दावे के साथ यह कहने की स्थिति में अब भी नहीं हैं कि यह स्वरूप आखिरी या स्थिर है। सूचना प्रौद्यागिकी क्रान्ति के कारण मीडिया की हिन्दी भाषा के स्वरूप में निरन्तर परिवर्तन हो रहा है। आज हमें ऐसी हिन्दी भाषा की आवश्यकता है जो संस्कृत शब्दों से अलंकृत भी हो और अन्यान्य देशी-विदेशी भाषाओं के सरल, सहज और प्रचलित शब्दों से समृद्ध हो। पत्रकारिता के क्षेत्र में कार्य कर रहे व्यक्तियों एवं पत्रकारिता का प्रशिक्षण ले रहे विद्यार्थियों को भाषा का ज्ञान होना आवश्यक है। प्रस्तुत पुस्तक में मीडिया की बदलती हिन्दी भाषा का विश्लेषण कर ऐसी हिन्दी भाषा को स्थापित करने का प्रयास किया गया है, जो प्रौद्योगिकी के साथ मिलकर चले और आम जनमानस की भाषा बन सके।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book