शेष अगले पृष्ठ पर - के. डी. सिंह Shesh Agle Prishth Par - Hindi book by - K. D. Singh
लोगों की राय

हास्य-व्यंग्य >> शेष अगले पृष्ठ पर

शेष अगले पृष्ठ पर

के. डी. सिंह

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2004
आईएसबीएन : 9788180317125 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :71 पुस्तक क्रमांक : 13312

Like this Hindi book 0

यह किताब एक ऐसे लेखक की है जो लेखन की दुनिया का पेशेवर बाशिन्दा नहीं है

यह किताब एक ऐसे लेखक की है जो लेखन की दुनिया का पेशेवर बाशिन्दा नहीं है, फिर भी गद्य की एकदम ताजी पृष्ठभूमि से आया है, जहाँ विद्यार्थी जीवन के हल्के-फुल्के और रोचक अनुभवों के छोटे-छोटे टुकड़े हैं। उसने स्वयं कहा है कि 'यह उपन्यास नहीं है' और मैं इस तरह की कोशिश को 'विधाओं में एक तोड़-फोड़' कहता हूँ। यह तोड़-फोड़ सार्थक है, समर्थ है और पठनीय है। नये लोग कविता की तरह गद्य में भी नयी संरचना लेकर आयेंगे तो निश्चित ही समृद्धि आयेगी-भाषा में, रूप में और विन्यास में भी।

अन्य पुस्तकें

To give your reviews on this book, Please Login