कला के सामाजिक उद्गम - गिऑर्गी प्लेखानोव Kala Ke Samajik Udgam - Hindi book by - Georgi Plekhanov
लोगों की राय

कला-संगीत >> कला के सामाजिक उद्गम

कला के सामाजिक उद्गम

गिऑर्गी प्लेखानोव

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2003
पृष्ठ :208
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 13956
आईएसबीएन :9788126723041

Like this Hindi book 0

कला और साहित्य पर प्लेखानोव की ज्यादातर कृतियों का मुख्य उद्देश्य कला और इसकी सामाजिक भूमिका को भौतिकवादी दृष्टि से प्रमाणित करना था।

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ

लोगों की राय

No reviews for this book