महापुरुषों का स्मरण - हजारी प्रसाद द्विवेदी Mahapurushon Ka Smaran - Hindi book by - Hazari Prasad Dwivedi
लोगों की राय

आलोचना >> महापुरुषों का स्मरण

महापुरुषों का स्मरण

हजारी प्रसाद द्विवेदी

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2009
पृष्ठ :139
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 14025
आईएसबीएन :9788171782185

Like this Hindi book 0

कहना न होगा कि प्राचीन तथा समकालीन महापुरुषों को समझने में यह पुस्तक एक महत्त्वपूर्ण दस्तावेज़ का कार्य करेगी।

आचार्य हजारीप्रसाद द्विवेदी का कृतित्व ललित निबन्ध, उपन्यास, आलोचना, इतिहास और अनुसंधानपरक व्याकरण-जैसे परस्पर भिन्न रचना-अनुशासनों के बीच प्रस्फुटित हुआ है। द्विवेदीजी के साहित्यिक चिन्तन का मूलाधार मनुष्य है - अपने सारे भावों-अभावों और हास- रुदन के साथ जीता-जागता समूचा मनुष्य। प्रस्तुत पुस्तक ‘महापुरुषों का स्मरण’ में आचार्यजी ने उन महापुरुषों को स्मरण किया है जिनका देय समाज और साहित्य को अत्यन्त महत्त्वपूर्ण है। इनमें साहित्यकार हैं, समाजसेवी हैं, राजनीतिज्ञ हैं और प्राचीन काल के महान वैज्ञानिक भी हैं। कुछ का स्मरण वैयक्तिक धरातल पर है और कुछ का उनकी कृतियों के माध्यम से। कहना न होगा कि प्राचीन तथा समकालीन महापुरुषों को समझने में यह पुस्तक एक महत्त्वपूर्ण दस्तावेज़ का कार्य करेगी।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book