मुरिया और उनका घोटुल: भाग -2 - वेरियर एलविन Muria Aur Unka Ghotul : Part-2 - Hindi book by - Veriar Elwin
लोगों की राय

सामाजिक विमर्श >> मुरिया और उनका घोटुल: भाग -2

मुरिया और उनका घोटुल: भाग -2

वेरियर एलविन

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2008
पृष्ठ :538
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 14074
आईएसबीएन :9788126715503

Like this Hindi book 0

मुरिया और उनका घोटुल–2 में मुरिया तथा घोटुल की सभी परम्पराओं को क्रमवार रूप से संजोया गया है।

मुरिया और उनका घोटुल–2 में मुरिया तथा घोटुल की सभी परम्पराओं को क्रमवार रूप से संजोया गया है। घोटुल में एक सरल, कामुकता से पूर्ण और गहरी भावना से ओत–प्रोत यौन जीवन है जिसका संचालन चेलिक और मुटियारी मिलकर करते हैं। पुस्तक हमें घोटुल का प्रारम्भ कैसे हुआ, इनके भवन किस तरह के थे, इसकी सदस्यता और नियम, श्रंगार और वस्तुएँ, अनुशासन, सेक्स, नृत्य और गीत, मनोरंजन, विवाह, नैतिक मानदंड आदि सभी पहलुओं के विषय में तथ्यात्मक जानकारी देती है। पुस्तक में घोटुल संस्कृति के अतिरिक्त मुरिया संस्कृति के अन्य पहलुओं पर भी प्रकाश डाला गया है। सेक्स के प्रति मुरिया दृष्टिकोण तथा विवाह से पूर्व बहुत–से साथियों के साथ यौन–सम्बन्ध बनाने की समस्या का हल ढूँढ़ने की भी कोशिश की गई है। मुरिया जीवन के अनेकों उतार–चढ़ावों के साथ–साथ यहाँ हास–परिहास और लोक कथाओं के जरिए घोटुल के प्रति वफादार मुरिया की उत्सुकता की भी झलक दिखाई देती है। वेरियर एलविन की अंग्रेजी पुस्तक से अनुदित यह पुस्तक मुरिया समुदाय के जीवन को जीवन्त, तर्कसंगत, माननीय और आकर्षक रूप में देखने का सुन्दर प्रयास है।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book