प्रतिनिधि कहानियाँ: राजेंद्र सिंह बेदी - राजेंद्र सिंह बेदी Pratinidhi Kahaniyan : Rajendra Singh Bedi - Hindi book by - Rajendra Singh Bedi
लोगों की राय

कहानी संग्रह >> प्रतिनिधि कहानियाँ: राजेंद्र सिंह बेदी

प्रतिनिधि कहानियाँ: राजेंद्र सिंह बेदी

राजेंद्र सिंह बेदी

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2017
पृष्ठ :142
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 14181
आईएसबीएन :9788126703296

Like this Hindi book 0

इस संग्रह में उनकी प्रायः सभी महत्त्वपूर्ण कहानियां शामिल हैं। इनसे जो सच्चाइयाँ उजागर हुई हैं, वे जिंदगी को मात्र जी लेने से नहीं, उसमें कुछ तलाशने से ही संभव हैं।

तरक्की पसंद उर्दू कथाकारों में राजेन्द्रसिंह बेदी का नाम अत्यंत आदर के साथ लिया जाता है। उनकी रचनाओ की संख्या कम जरूर है लेकिन जमीन बहुत बड़ी है। इस संग्रह में उनकी प्रायः सभी महत्त्वपूर्ण कहानियां शामिल हैं। इनसे जो सच्चाइयाँ उजागर हुई हैं, वे जिंदगी को मात्र जी लेने से नहीं, उसमें कुछ तलाशने से ही संभव हैं। कहानी कहने के लिए बेदी के पास न तो बना-बनाया कोई सांचा है, न ही बुद्धिजीवी किस्म का कोई पूर्वग्रह। यही कारण है कि इन कहानियों से गुजरते हुए हमारी अपनी संजीदगी बेदी की संजीदगी से एकमेक हो उठती है। उनकी अनुभवों की सच्चाई एक कलात्मक व्यवस्था के तहत हमारे भीतर उतर जाती है और शैली का संयम तथा भाषा की नजाकत हमें मुग्ध कर लेते हैं। अपनी कहानियों की नारी को बेदी ने रूह तक जानने और रचने की कोशिश की है। इसलिए कल्याणी, लाजवंती, कीर्ति और इंदु जैसे जीवंत नारी-चरित्र पाठकों के दिलो-दिमाग पर सदा-सदा के लिए नक्श हो जाने की क्षमता से परिपूर्ण हैं।

लोगों की राय

No reviews for this book