बडे़ भाई - रामविलास शर्मा Bade Bhaee - Hindi book by - Ramvilas Sharma
लोगों की राय

आलोचना >> बडे़ भाई

बडे़ भाई

रामविलास शर्मा

प्रकाशक : वाणी प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2014
पृष्ठ :328
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 14422
आईएसबीएन :978-93-5000-987

Like this Hindi book 0

‘बड़े भाई’ ने अपने जीवन संघर्ष, पारिवारिक परिस्थिति, यात्रा विवरण और बातचीत के द्वारा मध्य वर्ग के जटिल संसार को रेखांकित किया है

हिन्दी गद्य को रामविलास शर्मा का योगदान ऐतिहासिक है। तर्क और तथ्यों से भरी हुई साफ पारदर्शी भाषा रामविलास जी के गद्य की विशेषता है। लेकिन दिलचस्प बात यह है कि उनकी यह विशेषता उनके परिवार के सदस्यों के गद्य में भी बड़े पैमाने पर पायी जाती है, और इस तरह हिन्दी गद्य का ‘रामविलास घराना’ एक नया मुहावरा बनता है। इस घराने के बड़े सदस्य ‘बड़े भाई’ के गद्य का संग्रह है यह पुस्तक। पुस्तक में ‘बड़े भाई’ ने अपने जीवन संघर्ष, पारिवारिक परिस्थिति, यात्रा विवरण और बातचीत के द्वारा मध्य वर्ग के जटिल संसार को रेखांकित किया है। पुस्तक में बडे़ भाई की जिन्दगी का पारिवारिक परिवेश रामविलास जी का भी परिवेश है। इसलिए रामविलास जी का जीवन भी इस पुस्तक में शामिल है। ‘घर की बात’ पुस्तक का अगला चरण है ‘बड़े भाई’ जिसमें हिन्दी गद्य के प्रस्तुतीकरण का नया रूप सामने आया है।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book