कानून का पाण्डव करेगा ताण्डव - केशव पण्डित Kanoon Ka Pandav Karega Tandav - Hindi book by - Keshav Pandit
लोगों की राय

रहस्य-रोमांच >> कानून का पाण्डव करेगा ताण्डव

कानून का पाण्डव करेगा ताण्डव

केशव पण्डित

प्रकाशक : तुलसी साहित्य पब्लिकेशन प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :320
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 15363
आईएसबीएन :0

Like this Hindi book 0

कानून के दो धुरंधर-एक चाणक्य तो दूसरा सिकन्दर !..

“शेरसिंह नाम होने पर भी गीदड़-गीदड़ ही रहता है। मोमबत्ती को सूरज नाम दे दिया जाये तो वो सारी दुनिया में उजाला नहीं फैला देती। घड़ियाल नाम होने पर भी मेंढक सिर्फ टर्र-टर्र ही करेगा - वो बाल्टी के पानी में भी खलबली नहीं मचा सकता। तेरे मां-बाप ने तेरा नाम पाण्डव रख दिया तो क्या तू अर्जुन हो गया? अर्जुन ने जो तीर चलाये थे, उनमें से कोई एक भी तेरे ऊपर रख दिया जाये तो जमीन के भीतर धंस जायेगा हां, तेरा नाम कौरव होता तो... कुछ-कुछ जमता, क्योंकि तेरे कारनामें कौरवों वाले ही हैं। लेकिन तू भी वो गलती कर रहा है, जो कौरवों ने की थी। वो कृष्ण के होते हुये भी कुरुक्षेत्र के मैदान में पहुंच गये थे और मिट्टी में मिल गये थे। तू भी कानून के उस कुरुक्षेत्र में उतरने की गलती कर बैठा है, जहां पर कृष्ण जैसा ही दिमाग का खिलाड़ी केशव पण्डित मौजूद है। वो तुझे नाको चने चबवा देगा और तुझे कानून के उस हथियार से ही बींधकर रख देगा, जिस पर तू बहुत घमण्ड करता है।"

कानून के दो धुरंधर-एक चाणक्य तो दूसरा सिकन्दर!..

प्रथम पृष्ठ

विनामूल्य पूर्वावलोकन

Prev
Next
Prev
Next

लोगों की राय

No reviews for this book