Pratinidhi Kahaniyan : Geetanjali Shree - Hindi book by - Gitanjali Sri - प्रतिनिधि कहानियाँ : गीतांजलि श्री - गीतांजलि श्री
लोगों की राय

कहानी संग्रह >> प्रतिनिधि कहानियाँ : गीतांजलि श्री

प्रतिनिधि कहानियाँ : गीतांजलि श्री

गीतांजलि श्री

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2022
पृष्ठ :164
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 16166
आईएसबीएन :9788126718696

Like this Hindi book 0

यह गीतांजलि श्री की कहानियों का प्रतिनिधि संचयन है। गीतांजलि की लगभग हर कहानी अपनी टोन की कहानी है और विचलन उनके यहाँ गभग नहीं के बराबर है और यह बात अपने आपमें आश्चर्यजनक है क्योंकि बड़े-से-बड़े लेखक कई बार बाहरी दबावों और वक़्ती ज़रूरतों के चलते अपनी मूल टोन से विचिलत हुए हैं। यह अच्छी बात है कि गीतांजलि श्री ने अपनी लगभग हर कहानी में अपनी सिग्नेचर ट्यून को बरकरार रखा है। लेकिन सवाल यह है कि गीतांजलि कीकहानियों की यह मूल टोन आखिर है क्या ? एक अजीब तरह का फक्कड़पन, एक अजीब तरह की दार्शनिकता, एक अजीब तरह की भाषा और एक अजीब तरह की रवानी। लेकिन ये सारी अजीबियतें ही उनके कथाकार को एक व्यक्तित्व प्रदान करती हैं। यहाँ यह कहना ज़रूरी है कि यह सब परम्परा से हटकर है और परम्परा में समाहित भी।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book