गदर के फूल - अमृतलाल नागर Gadar ke Phool - Hindi book by - Amritlal Nagar
लोगों की राय

लेख-निबंध >> गदर के फूल

गदर के फूल

अमृतलाल नागर

प्रकाशक : राजपाल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2016
पृष्ठ :236
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 2592
आईएसबीएन :9789350642696

Like this Hindi book 14 पाठकों को प्रिय

272 पाठक हैं

गदर के फूल...

Gadar ke Phool (Amritlal Nagar)

यशस्वी साहित्यकार अमृतलाल नागर की यह कृति ‘गदर के फूल’ सत्तावनी क्रान्ति संबंधी स्मृतियों और किंवदंतियों का प्रामाणिक दस्तावेज है।

भारत की स्वतन्त्रता के लिए 1857 में क्रान्ति की एक चिंगारी भड़की थी जिसे अंग्रेजों ने ‘गदर’ का नाम दिया था। उस काल के व्यक्ति अब छीजते जा रहे हैं। उन्हीं स्मृतियों को नागर जी ने इस पुस्तक में संजोया है।

अवध में घूम-घूमकर, उस काल के प्रत्यक्षदर्शी लोगों के संस्मरणों के माध्यम से तथा अन्य उपलब्ध ऐतिहासिक प्रमाणों को आधार बनाकर नागर जी ने इस पुस्तक की सामग्री का संचयन किया है।



अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book