भावार्थ रामायण - एकनाथ महाराज Bhavarth Ramayan - Hindi book by - Eknath Maharaj
लोगों की राय

विभिन्न रामायण एवं गीता >> भावार्थ रामायण

भावार्थ रामायण

एकनाथ महाराज

प्रकाशक : भुवन वाणी ट्रस्ट प्रकाशित वर्ष : 2009
पृष्ठ :1116
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 2817
आईएसबीएन :00-0000-00-0

Like this Hindi book 8 पाठकों को प्रिय

94 पाठक हैं

इसमें रामायण के सभी खण्डों का भावार्थ सहित वर्णन है...

Bhavarth Ramayan

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

भावार्थ रामायण में संत एकनाथ ने तुलनात्मक रूप से अनेक ग्रन्थों के आधार पर प्रचुर मात्रा में ऐतिहासिक सामग्री भी दी है। रामकथा और ब्रह्मकथा अर्थात इतिहास और अध्यात्म- दोनों का लाभ इस ग्रन्थ से एक-साथ होता है। इस ग्रन्थ की रचना-शैली और भाव-भंगिमा भी निराली है। भगवान राम की कथा और परामर्श, दोनों के एक साथ दर्शन की लालसा जैसी भावार्थ रामायण में पूरी होती है, वैसी किसी अन्य ग्रन्थ में नहीं होती।


लोगों की राय

No reviews for this book