युगांत - सुमित्रानंदन पंत Yugant - Hindi book by - Sumitra Nandan Pant
लोगों की राय

कविता संग्रह >> युगांत

युगांत

सुमित्रानंदन पंत

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2006
पृष्ठ :67
मुखपृष्ठ :
पुस्तक क्रमांक : 3269
आईएसबीएन :00000

Like this Hindi book 11 पाठकों को प्रिय

138 पाठक हैं

पंत जी का खण्ड काव्य...

युगांत में पल्लव की कोमल कांत कला का अभाव है। इसमें मैंने जिस नवीन क्षेत्र को अपनाने की चेष्टा की है,मुझे विश्वास है,भविष्य में मैं उसे अधिक परिपूर्ण रूप में ग्रहण एवं प्रदान कर सकूँगा।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book