एक स्त्री का विदागीत - मृणाल पाण्डे Ek Stri Ka Vidageet - Hindi book by - Mrinal Pandey
लोगों की राय

कहानी संग्रह >> एक स्त्री का विदागीत

एक स्त्री का विदागीत

मृणाल पाण्डे

प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2003
पृष्ठ :111
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 3800
आईएसबीएन :81-7119-807-4

Like this Hindi book 3 पाठकों को प्रिय

311 पाठक हैं

मृणाल पाण्डे का एक श्रेष्ठ कहानी-संग्रह

Ek Stri Ka Vidageet

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

हमारे समय में, जब अखबारी खबर को ‘स्टोरी’, और रोमांच और सनसनी-भरी वारदातों को ‘सत्यकथा’ या ‘नाटक’ कहकर परिभाषित किया जाने लगा है, तो एक ईमानदार कहानीकार के लिए जरूरी हो जाता है, कि वह नये सिरे से वह लिखे, जो सत्यकथा नहीं, स्टोरी नहीं राष्ट्र के नाम संदेश व रिपोतार्ज भी नहीं, सिर्फ एक विशुद्द गठी हुई कहानी हो, और कहानी के सिवा कुछ न हो।

इस संकलन की कहानियाँ हमारे समय, और खुद कलाकार की, रचनात्मक शक्ति को आखिरी बूँद तक निथारकर, उससे वह अन्तिम आकार छान पाने की कोशिश करती हैं, जो प्रचार-माध्यमों की पकड़ के परे, कहानी-कला का विशुद्ध स्वरूप है। इनमें एकल किस्सागोई भी है, और सामूहिक हुँकारा भी। सुनी-सुनाई भी है, और देखी-दिखाई भी, जन्म भी है, और मृत्यु भी, चलायमान समय भी है, और सर्वव्यापी काल भी। और अगर कोई सुधीजन कुनमुना-हिनहिनाकर पूछें, कि इनमें आदि-मध्य-अन्त (और समाज के लिए संदेश या सूक्तिवचन समान कुछ बातें) क्यों नहीं हैं ? तो यह कहानी बड़ी विनम्रता से पूछना चाहेगी, जीवन में ही वह सब है क्या ?


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book