बाजार की एक रात - मुशर्रफ आलम ज़ौकी Bazar Ki Ek Rat - Hindi book by - Musharraf Alam Zauki
लोगों की राय

कहानी संग्रह >> बाजार की एक रात

बाजार की एक रात

मुशर्रफ आलम ज़ौकी

प्रकाशक : नेशनल पब्लिशिंग हाउस प्रकाशित वर्ष : 2005
पृष्ठ :166
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 3818
आईएसबीएन :81-8018-060-3

Like this Hindi book 7 पाठकों को प्रिय

411 पाठक हैं

इस संग्रह की ज़्यादातर कहानियाँ बाज़ार से जुड़ी हैं। बाजा़र, जिसने व्यक्ति से ‘व्यक्तित्व’ को ख़ारिज कर एक ठूँठ, उदासीन मोहरा बना दिया है।

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book