ब्रह्महत्या तथा अन्य कहानियाँ - शशिभूषण त्रिवेदी Brahmahatya Tatha Anya Kahaniyan - Hindi book by - Sashi Bhushan Trivedi
लोगों की राय

कहानी संग्रह >> ब्रह्महत्या तथा अन्य कहानियाँ

ब्रह्महत्या तथा अन्य कहानियाँ

शशिभूषण त्रिवेदी

प्रकाशक : भारतीय ज्ञानपीठ प्रकाशित वर्ष : 2005
पृष्ठ :132
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 411
आईएसबीएन :81-263-1110-x

Like this Hindi book 8 पाठकों को प्रिय

98 पाठक हैं

‘ब्रह्महत्या तथा अन्य कहानियाँ’ युवा कथाकार शशिभूषण त्रिवेदी का पहला कहानी संग्रह है।

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश


‘ब्रह्महत्या तथा अन्य कहानियाँ’ युवा कथाकार शशिभूषण त्रिवेदी का पहला कहानी संग्रह है। भारतीय ज्ञानपीठ के ‘नवलेखन पुरस्कार’ से समादूत प्रस्तुत कृति वस्तु और बुनावट की ख़ास शैली के कारण समकालीन कथा परिदृश्य में अपनी अलग पहचान बनाती है। शशिभूषण की कहानियों की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि उनमें कई पीढ़ियाँ कई समय और कई यथार्थ एक साथ कर हमारे समय के बड़े यथार्थ का निर्माण करते हैं।

इस संग्रह का लेखक लोककथाओं ओर घटना-वैशिष्ट्य के माध्यम से मनुष्य की नियति, स्वप्न, इतिहास और राजनीति के अहम् सवालों को उठाता है। साथ ही, युगबोध के साथ जब वह पुराने मिथकों, सांस्कृतिक प्रतीकों और दार्शनिक अवधारणाओं को खंगालता है तो ‘विप्लव’ जैसी विलक्षण स्थिति सामने आती है और पाठक के मन-मष्तिष्क में अनेक प्रश्न खड़े कर देती है।

शशिभूषण की इन कहानियों को पढ़ने से लगता है कि वे हर बार कहानी के अपने ढांचे को तोड़ने की कोशिश करते हैं और यही कोशिश उसकी भावी कहानी का जन्म होना है।

सन्देह नहीं कि, युवा कथाकार शशिभूषण की कहानियाँ पाठकों के आकर्षण का केन्द्र बनेंगी।

लोगों की राय

No reviews for this book