क्या धर्म अफीम की गोली है ? - श्रीराम शर्मा आचार्य Kya Dharm Aphim Ki Goli Hai ? - Hindi book by - Sriram Sharma Acharya
लोगों की राय

आचार्य श्रीराम शर्मा >> क्या धर्म अफीम की गोली है ?

क्या धर्म अफीम की गोली है ?

श्रीराम शर्मा आचार्य

प्रकाशक : युग निर्माण योजना गायत्री तपोभूमि प्रकाशित वर्ष : 2006
पृष्ठ :103
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 4229
आईएसबीएन :0000

Like this Hindi book 9 पाठकों को प्रिय

210 पाठक हैं

क्या धर्म अफीम की गोली नहीं ?....

Kya Dharm Aphim Ki Goli Hai ?

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

धर्म को संवेदना का उद्गम स्रोत कह सकते हैं। वह उपदेश नहीं उपचार है, जिसके सहारे दिव्य चक्षुओं पर चढ़ी हुई धुंध को दूर किया जा सकता है। उस धुंध के हटने पर पदार्थ के अंतराल में संव्याप्त सत्ता को देखा जाता है। उसी के सहारे उस ब्रह्मांजव्यापी चेतना की अनुभूति होती है, जिसे विश्वात्मा कहा जाता है और जिसका एक घटक आत्मा है। विचार से पदार्थ के गुण-धर्म-स्वभाव और उपयोग को जाना जाता है, धर्म से आत्मा का साक्षात्कार होता है और जीवन को आत्मा के अनुशासन में चलने के लिए प्रशिक्षित और अभ्यस्त किया जाता है।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book