गायत्री का हर अक्षर शक्ति स्रोत - श्रीराम शर्मा आचार्य Gayatri Ka Har Akshar Shakti Srot - Hindi book by - Sriram Sharma Acharya
लोगों की राय

आचार्य श्रीराम शर्मा >> गायत्री का हर अक्षर शक्ति स्रोत

गायत्री का हर अक्षर शक्ति स्रोत

श्रीराम शर्मा आचार्य

प्रकाशक : युग निर्माण योजना गायत्री तपोभूमि प्रकाशित वर्ष : 2005
पृष्ठ :56
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 4242
आईएसबीएन :000

Like this Hindi book 8 पाठकों को प्रिय

299 पाठक हैं

गायत्री का अक्षर शक्ति-स्रोत

Gayatri Ka Har Akshar Shakti

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

गायत्री मंत्र में 24 अक्षर हैं। इन्हें मिलाकर पढ़ने से ही इनका शब्दार्थ और भावार्थ समझ में आता है, पर शक्ति साधना के संदर्भ में इनमें से प्रत्येक अक्षर का अपना स्वतंत्र अस्तित्व और महत्व है। इन अक्षरों को परस्पर मिला देने से परम तेजस्वी सविता देवता से सद्बुद्धि को प्रेरित करने के लिए प्रर्थना की गई है और साधक को प्रेरणा दी गई है कि वह गायत्री की सर्वोपरि संपदा ‘सद्बुद्धि’ का- ऋतंभरा प्रज्ञा का महत्व समझे और अपने अंतराल में दूरदर्शिता का अधिकाधिक समावेश करे। यह प्रसंग अति महत्वपूर्ण होते हुए भी रहस्यमय तथ्य यह है कि महामंत्र का प्रत्येक अक्षर शिक्षिओं और सिद्धियों से भरा-पूरा है।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book