गायत्री ही कामधेनु है - श्रीराम शर्मा आचार्य Gayatri Hi Kamdhenu Hai - Hindi book by - Sriram Sharma Acharya
लोगों की राय

आचार्य श्रीराम शर्मा >> गायत्री ही कामधेनु है

गायत्री ही कामधेनु है

श्रीराम शर्मा आचार्य

प्रकाशक : युग निर्माण योजना गायत्री तपोभूमि प्रकाशित वर्ष : 2006
पृष्ठ :48
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 4249
आईएसबीएन :0000

Like this Hindi book 7 पाठकों को प्रिय

32 पाठक हैं

गायत्री ही कामधेनु है

गायत्री उपासकों को माता का आँचल पकड़ने से जो अनुव हुए हैं, उनका कुछ का संक्षिप्त वृत्तान्त इस पुस्तक में दिया जा रहा है। इससे असंख्यों गुने महत्वपूर्ण अनुभव तो अभी अप्रकाशित ही हैं। इतना निश्चित है कि कभी किसी की गायत्री-साधना निष्फल नहीं जाती। इस दिशा में बढाया हुआ प्रत्येक कदम कल्याणकारक ही होता है।

गायत्री उपासना कैसे करनी चाहिए ? किस-किस कार्य के लिए गायत्री महाशक्ति का उपयोग किस प्रकार, किस विधि-विधान से होना चाहिए, इसका विस्तृत वर्णन हमने गायत्री महाविज्ञान के चारों खंडो में भली प्रकार कर दिया है। पाठक उनसे सहायता लेकर आशाजनक लाभ उठा सकते हैं।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book