घायल कौए की कहानी - रामेश बेदी Ghayal Kauye ki Kahani - Hindi book by - Ramesh Bedi
लोगों की राय

अतिरिक्त >> घायल कौए की कहानी

घायल कौए की कहानी

रामेश बेदी

प्रकाशक : नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया प्रकाशित वर्ष : 2001
पृष्ठ :24
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 504
आईएसबीएन :81-237-3514-6

Like this Hindi book 5 पाठकों को प्रिय

55 पाठक हैं

नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा प्रकाशित नेहरू बाल पुस्तकालय की बच्चों के लिए एक सचित्र रोचक पुस्तक

Ghayal Kauye ki Kahani - A hindi book by Ramesh Bedi

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

छोटू स्कूल से लौट रहा था। पहली सितम्बर, 1970 की शाम के साढ़े चार बजे थे। उसने कौए का बच्चा गिरा पड़ा देखा। छोटू उसके पास गया तो वह डर कर कोने में दुबक गया। यह कौओं के अण्डे में बच्चे निकलने का मौसम था। बड़े बच्चे घोंसलें छोड़कर अपने माँ-बाप के साथ चुग्गा खाने बाहर भी जाने लगे थे। दिल्ली की भीड़ भरी सड़कों को पार करने में जैसे इन्सान के बच्चे को तकलीफ होती है, वैसे ही कौओं के बच्चों के लिए भी सड़कों की भीड़ काफी मुसीबत वाली है। 


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book