रिमझिम भाग 4 - कन्हैयालाल गौड़ Rimjhim Part 4 - Hindi book by - Kanhaiyalal Gaur
लोगों की राय

पाठ्य पुस्तकें >> रिमझिम भाग 4

रिमझिम भाग 4

कन्हैयालाल गौड़

प्रकाशक : आर्य प्रकाशन मंडल प्रकाशित वर्ष : 2007
पृष्ठ :72
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 5196
आईएसबीएन :978-81-7063-555

Like this Hindi book 8 पाठकों को प्रिय

220 पाठक हैं

चौथी कक्षा के लिए हिंदी की पाठ्यपुस्तक की अभ्यास पुस्तिका-

Abhyas Mala Rimjhim 4 -A Hindi Book by Kanhaiyalal Gaur

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

भूमिका

प्रस्तुत अभ्यास माला, राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् द्वारा कक्षा-1 के लिए पाठ्यक्रम में निर्धारित ‘रिमझिम-1’ को ध्यान में रखकर तैयार की गई है। रिमझिम-1 की अभ्यास माला का यह नवीन संस्करण शिक्षणवस्तु में ही नहीं, शैक्षणिक दृष्टि और प्रविधि में भी नवीन है। भाषा के चार कौशलों-सुनना, बोलना, पढ़ना और लिखना को महत्त्व दिया गया है और यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया गया है कि प्रश्न अभ्यास कोमलवय विद्यार्थियों के लिए रुचिकर, प्रेरक और उत्साहवर्धक हों। इस उम्र में बच्चों का स्वभाव कल्पनाशील होता है और वह चित्रमय सामग्री को अधिक रूचि से ग्रहण करता है। इसी मनोवैज्ञानिक सिद्धांत को ध्यान में रखकर इस अभ्यास माला की रचना की गई है।

अध्यापक इस तथ्य से सुपरिचित हैं कि कोई भी पुस्तक एक प्रभावी उपकरण तभी बन पाती है जब उसके प्रयोग में सुसंबद्ध और तर्कसंगत योजना हो। इस बात को ध्यान में रखकर इस अभ्यास माला को हिन्दी शिक्षण के मूलभूत उद्देश्यों की संप्राप्ति में सहायक और उपादेय बनाने का पूरा प्रयास किया गया है। अभ्यास माला की कुछ विशेषताएँ हैं :

• भाषा सरल, स्पष्ट एवं सुबोध है।
• आकर्षक चित्रों द्वारा कल्पनाशीलता और बोधगम्यता में वृद्धि की गई है।
• विविध प्रकार के विचारोत्तेजक प्रश्न दिए गए हैं।
• तर्क और कल्पनाशक्ति के विकास में सहायक है।
• शुद्ध बोलने और लिखने में सहायक है।
• रचनात्मक और अभिव्यक्ति कौशल को बढ़ावा देती है। ।
हमें विश्वास है कि सुधी अध्यापक और अध्ययनशील छात्र इस अभ्यास माला से अधिकाधिक लाभान्वित होंगे।

-लेखक


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book