मेरे मित्र : कुछ महिलाएं, कुछ पुरुष - खुशवंत सिंह Mere Mitra : Kuchh Mahilayen, Kuchh Purush - Hindi book by - Khushwant Singh
लोगों की राय

संस्मरण >> मेरे मित्र : कुछ महिलाएं, कुछ पुरुष

मेरे मित्र : कुछ महिलाएं, कुछ पुरुष

खुशवंत सिंह

प्रकाशक : किताबघर प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2008
पृष्ठ :127
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 5973
आईएसबीएन :8170163501

Like this Hindi book 5 पाठकों को प्रिय

91 पाठक हैं

मेरे मित्र : कुछ महिलाएं, कुछ पुरुष....

Mere Mitra : Kuchh Mahilayen, Kuchh Purush

प्रस्तुत पुस्तक के विषय-व्यक्तित्व मैंने बिना किसी तरतीब के चुने हैं। इनमें भी वे महिलाएं और पुरुष विशेष हैं, जिनसे कि 60 और 70 के दशकों में मेरी दोस्ती हुई। अपने बारे में मेरे इन उद्गारों को पढ़कर कुछ तो इतने नाराज़ हुए कि उनसे बोलचाल ही बंद हो गई, पर कुछ खुश भी हुए। उन्होंने माना कि उनके प्रति मैंने अपना स्नेह का ही इज़हार किया है। कुछ ऐसे भी है, जिन्होंने अपने बारे में मेरे लिखे को पढ़ने का जहमत उठाना भी गवारा नहीं किया और कहा कि मैं उनके बारे में चाहे जो सोचता रहूँ, उससे उन्हें कोई लेना-देना नहीं है। पर अब आप ही बताएँ कि उनके बारे में मेरा यह लिखना किसी काम का है या नहीं।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book