बाबा आमटे - तारा धर्माधिकारी Baba Amte - Hindi book by - Tara Dharmadhikari
लोगों की राय

जीवनी/आत्मकथा >> बाबा आमटे

बाबा आमटे

तारा धर्माधिकारी

प्रकाशक : नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया प्रकाशित वर्ष : 2003
पृष्ठ :80
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 6144
आईएसबीएन :81-237-3297-x

Like this Hindi book 1 पाठकों को प्रिय

58 पाठक हैं

बाबा आमटे का जन्म 26 दिसंबर 1914 को महाराष्ट्र स्थित वर्धा जिले में हिंगणघाट गांव में हुआ था। उनका परिवार एक सनातनी ब्राह्मण परिवार था।

Baba Amte A Hindi Book by Tara Dharmadhikari - बाबा आमटे

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

गठन


बाबा आमटे का जन्म 26 दिसंबर 1914 को महाराष्ट्र स्थित वर्धा जिले में हिंगणघाट गांव में हुआ था। उनका परिवार एक सनातनी ब्राह्मण परिवार था। उनके पिता देवीदास हरबाजी आमटे शासकीय सेवा में लेखपाल (एकांउटेंट) थे। वरोड़ा से पांच-छह मील दूर गोरजे गांव में उनकी जमींदारी थी। बाबा का बचपन बहुत ही ठाट-बाट से बीता। सोने के पालने में चांदी की चम्मच से उन्हें खाना खिलाया जाता।

रेशमी कुर्ता, सिर पर जरी की टोपी तथा पांवों में बूट-यही उनकी वेशभूषा रहती। उनकी चार बहनें और एक भाई था। उनका पूरा नाम मुरलीधर देवीदास आमटे था।

बाबा अपने पिता से हमेशा डरे-सहमे से रहते, उनसे बात करने से कतराते थे। लेकिन अपनी मां से उनकी गाढ़ी छनती थी। उनकी माताजी एक स्वतंत्र विचारों वाली महिला थीं। बचपन में मां ने आमटे को खेलने के लिए एक लुढ़कने वाला गुड्ढ़ा दिया था जो बार-बार गिराये जाने पर भी उठ कर बैठ जाता था। मां कहा करती थीं, ‘‘देख बेटे, जिंदगी में इसकी तरह गिरते-पड़ते रहने के, मात खाने के, धराशायी होने के प्रसंग आते ही रहेंगे, पर डरना नहीं, हथियार नहीं डालना।



अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book