खरीदा हुआ दुख - आशापूर्णा देवी Kharida Hua Dukh - Hindi book by - Ashapurna Devi
लोगों की राय

नारी विमर्श >> खरीदा हुआ दुख

खरीदा हुआ दुख

आशापूर्णा देवी

प्रकाशक : सन्मार्ग प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2012
पृष्ठ :88
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 6386
आईएसबीएन :9788181120380

Like this Hindi book 2 पाठकों को प्रिय

24 पाठक हैं

आशापूर्णा जी के उपन्यास मूलतः नारी केन्द्रित होते हैं। सृजन की श्रेष्ठ सहभागी होते हुए भी नारी का पुरुष के समान मूल्यांकन नहीं है...

<< पिछला पृष्ठ प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book