BPB कंप्यूटर कोर्स - बीपीबी एडीटोरियल बोर्ड BPB Computer Course - Hindi book by - BPB Editorial Board
लोगों की राय

विविध >> BPB कंप्यूटर कोर्स

BPB कंप्यूटर कोर्स

बीपीबी एडीटोरियल बोर्ड

प्रकाशक : बीपीबी पब्लिकेशन प्रकाशित वर्ष : 2008
पृष्ठ :688
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 6644
आईएसबीएन :81-7656-586-5

Like this Hindi book 9 पाठकों को प्रिय

205 पाठक हैं

विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ नवीनतम सॉफ्टवेयरों का सरल अध्ययन...

BPB Computer Course

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

यदि आप कंप्यूटर विज्ञान से बिलकुल अनजान हैं तो भी इस पुस्तक के वर्तमान समय में प्रयुक्त कंप्यूटर विज्ञान के इन नवीनतम सॉफ्टवेयरों से वर्ड प्रोसेसिंग, वर्कशीट बनाना, प्रजेन्टेशन बनाना, डेटाबेस मैनेज़मेट, इंवेंट्री कंट्रोल और एकाउंटिंग के लिये सॉफ्टवेयर बनाना, इंटरनेट पर सफरिंग करना, ई-मेल सुविधा प्रयोग करना तथा टैली के नये संस्करण से एकाउंटिंग करना बिना किसी की सहायता के सीख सकते हैं। पुस्तक में दिये हजारों चित्र वास्तविक हैं इससे आपको पुस्तक पढ़ते समय यह महसूस होगा कि कंप्यूटर आपके सामने है और आपने सॉफ्टवेयर को खोला हुआ है।

प्राक्कथन

कम्प्यूटर का इस्तेमाल आज जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में हो रहा है। शायद इसीलिये सरकार की कोशिश भी ज्यादा से ज्यादा इस क्षेत्र को बढ़ावा देने की है। हमारे देश में हिंदी में कम्प्यूटर विज्ञान को सूचना तकनीक के नाम से जाना जाता है। हमारे देश की 60 प्रतिशत जनसंख्या हिंदी भाषी है और इस हिंदी भाषी क्षेत्र में यदि किसी नयी तकनीक को बढ़ावा देना है तो यह बहुत जरूरी है कि उसे आम बोलचाल की भाषा में ही प्रस्तुत किया जाये। जापान और चीन जैसे देश इस बात के सशक्त उदाहरण हैं। इन देशों की तरक्की का राज भी यही है कि यह तकनीक का अध्ययन अपनी भाषा में करते हैं।

हमारी यह पुस्तक इसी दिशा में एक प्रयास है। इस पुस्तक के वर्तमान समय में प्रचलित कम्प्यूटर विज्ञान के उन विषयों को समेटा गया है जिनका सबसे ज्यादा प्रयोग होता है। इसके अलावा यह विषय हमारे देश की अनेक सरकारी और गैरसरकारी संस्थाओं द्वारा उनके पाठ्यक्रम में अनुमोदित है। इस पुस्तक से आप जहाँ एक ओर कम्प्यूटर का बुनियादी ज्ञान प्राप्त करेंगे, वहीं वर्ड प्रोसेसिंग, इलेक्ट्रानिक स्प्रेडशीट, डेटाबेस मैनेज़मेंट, प्रजेंटेशन बनाना, इंटरनेट द्वारा ई-मेल भेजने से लेकर फोन फैक्स और वीडियो कॉन्फ्रेशिंग करना, टैली द्वारा एकाउंटिंग करना, डीटीपी और वायरस निकालने जैसे विषयों के बारे में गहन अध्ययन कर सकेंगे। पुस्तक में इन समस्त विषयों को बहुत ही सरल आम बोलचाल की भाषा में प्रस्तुत किया गया है। पुस्तक को डिजिटल प्रिंटिंग प्रोसेस तकनीक द्वारा प्रिंट किया गया है जिससे सॉफ्टवेयर क्रियान्वयन के चित्र आपको उसी तरह से दिखाई दें जिस तरह से कम्प्यूटर के मॉनीटर पर दिखाई देते हैं। हमें आशा है कि यह पुस्तक ओ लेवल के छात्रों से लेकर बीसीए/एमसीए तथा सभी हिंदी भाषी राज्यों के माध्यमिक शिक्षा बोर्डों के छात्रों के लिये बहुत उपयोगी साबित होगी। इसके अलावा जो लोग अभी तक ऑफिसों में कम्प्यूटर का प्रयोग करने में झिझकते हैं वह इसकी सहायता से अब बहुत ही कम समय में कम्प्यूटर के प्रयोग में महारत हासिल कर सकेंगे।

लेखकगण

कम्प्यूटर क्या है ?


जब कम्प्यूटर को परिभाषित करते हैं तो कहा जाता है कि यह एक इलेक्ट्रानिक मशीन है, जो केवल शून्य (0) और (1) की भाषा ही समझती है। इसके द्वारा आप डेटा प्रोसेस करके अर्थपूर्ण परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। वास्तव में यह परिभाषा कम्प्यूटर के बुनियादी रूप की हल्की सी झलक दर्शाती है, क्योंकि आज का कम्प्यूटर इस परिभाषा से इतना आगे चला गया है जिसकी कल्पना शायद इस परिभाषा को लिखने वालों ने कभी भी नहीं की होगी।

आज का कम्प्यूटर किसी भी तरह का डेटा (टेक्सट, संख्या, फोटो, आवाज़ और मूवी) प्रोसेस करने की क्षमता से सम्पन्न है। इसे अब मनुष्य के ऐसे विकल्प के रूप में प्रयोग किया जाता है जो पूर्वनिर्धारित आदेशों का अक्षरशः पालन करते हुए कई दिनों में पूरे होने वाले कार्यों को सेकेण्डों में कर सकता है।

इसके अलावा कम्प्यूटर आज संचार (कम्युनिकेशन) का मुख्य आधार बन गया है। आप इंटरनेट का प्रयोग करके अमेरिका में बैठे व्यक्ति से आमने-सामने मुखातिब होकर बात कर सकते हैं। ई-मेल भेजने और प्राप्त करने जैसे कार्य तो आज पुरानी बातें लगने लगे हैं। इस अध्याय में आइये कम्प्यूटर के प्रारम्भिक रूप से लेकर नये रूप तक के सफर का अध्ययन करें।



अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book