सात साल - मुल्कराज आनंद Saat Saal - Hindi book by - Mulkraj Anand
लोगों की राय

उपन्यास >> सात साल

सात साल

मुल्कराज आनंद

प्रकाशक : राजपाल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2014
पृष्ठ :204
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 6657
आईएसबीएन :9789350642856

Like this Hindi book 6 पाठकों को प्रिय

277 पाठक हैं

प्रस्तुत उपन्यास ‘सात साल’ में मुल्कराज आनन्द अपने बचपन की स्मृतियों के सहारे खुद को परख रहे हैं।

Saat Saal - An Hindi Book by Mulkraj Anand - सात साल - मुल्कराज आनन्द

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

भारतीयता के रंग में पूरी तरह रंगे अंग्रेज़ी के उपन्यासकार डॉ. मुल्कराज आनन्द का  हिन्दी में पाठक  वर्ग बहुत विस्तृत है और उनकी लोकप्रियता हिंदी में कमतर है।

प्रस्तुत उपन्यास ‘सात साल’ में मुल्कराज आनन्द अपने बचपन की स्मृतियों के सहारे खुद को परख रहे हैं। इस पुस्तक में बचपन के सारे रंग मुल्कराज आनन्द ने भरे हैं और फिर बहुत संवेदनपूर्ण ढंग से वह उनका मनोवैज्ञानिक विश्लेषण करते हैं।

‘सात साल’ को आलोचकों  द्वारा ‘कुली’ और ‘अछूत’ के बाद सर्वश्रेष्ठ  रचना भी कहा जाता है।



अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book