दावतों पार्टियों के मेन्यू - राजकुमारी डोंगरा Dawaton Partiyon Ke Menu - Hindi book by - Rajkumari Dongra
लोगों की राय

खाना खजाना >> दावतों पार्टियों के मेन्यू

दावतों पार्टियों के मेन्यू

राजकुमारी डोंगरा

प्रकाशक : पॉपुलर प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2007
पृष्ठ :87
मुखपृष्ठ :
पुस्तक क्रमांक : 6664
आईएसबीएन :81-902054-3-9

Like this Hindi book 10 पाठकों को प्रिय

178 पाठक हैं

इस पुस्तक में बच्चों और वयस्कों दोनों की पार्टियों के लिए भोजन के मेन्यू दिये गये हैं....

Dawaton Partiyon Ke Menu

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश


दावतों के आयोजन से आपसी सद्भावना तथा मेल-जोल बढ़ता है और जीवन की एकरसता दूर होती है। यही समय होता है जब आप अपनी पाक-कला के जौहर दिखाकर वाह-वाही लूट सकती हैं। दावत देने के लिये मौकों की कमी नहीं होती। घर में किसी का बर्थडे, आपकी शादी की सालगिरह, आपका या पति का प्रमोशन, बच्चे का अच्छे नंबरों से पास होना, किसी नव-विवाहित जोड़े या किसी महत्त्वपूर्ण व्यक्ति को खाने पर बुलाना आदि अनेक बहाने हो सकते हैं एक अदद दावते देने के लिये। ऐसे समय प्रायः आपके सामने समस्या खड़ी होती है मेन्यू के चयन की। यूँ आप कई चीजें बहुत बढ़िया बना लेती हैं, मगर आपको याद आता है कि ‘‘अमुक-अमुक’’ व्यंजन तो आप पिछली दावत में बना चुकीं अथवा ‘‘अमुक व्यंजन’’ के लिये इस मौसम में सामान मिलना बहुत ही मुश्किल या असंभव है। ठीक भी है, हर मौसम में हर चीज कैसे मिल सकती है ? फिर कुछ व्यंजन भी तो हर मौसम में नहीं भाते। बस आपकी इन्हीं उलझनों को ध्यान में रखकर हमने पूरे साल के 12 महीनों के लिये मौसम के अनुकूल दावती-मेन्यू तैयार किये हैं जो पूर्णतया शाकाहारी हैं।

प्रथम पृष्ठ

लोगों की राय

No reviews for this book