छुटकारा - ममता कालिया Chhutkara - Hindi book by - Mamta Kaliya
लोगों की राय

उपन्यास >> छुटकारा

छुटकारा

ममता कालिया

प्रकाशक : लोकभारती प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2009
पृष्ठ :110
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 7638
आईएसबीएन :9788180314209

Like this Hindi book 8 पाठकों को प्रिय

182 पाठक हैं

छुटकारा...

Chhutkara - A Hindi Ebook By Mamta kaliya


पहला सोना चाहता था, पर उसे नींद नहीं आ रही थी। नींद बुलाने का एक नुस्खा दूसरे ने उसे एक बार बताया था। वह कहता था कि वैसी हालत में कोई छोटी-सी अश्लील बात सोच लो, सोचते-सोचते बड़ी बात हो जायेगी और उस अनुपात में नींद तुम्हें घेर लेगी। पहले ने कहना चाहा था कि वैसी बातें तो वह हर वक्त सोचता रहता है, पर इन बातों से उसे कभी नींद नहीं आयी। बल्कि वह फिर और भी देर तक जागता रहा है और प्रयाग के खुर्राटे सुनता रहा है। कि प्रयाग खुर्राटे लेता है, यह उसकी इन्हीं दिनों की खोज थी। जब उसने सुबह प्रयाग को बताया था, प्रयाग बेहद झेंप गया था। उसने हकलाते हुए कहा था, ‘देखिये आपको भ्र...और दूसरे ने उसके कन्धे पर हाथ मारते हुए कहा था, ‘जाने दो यार, इसने कौन तुम्हारे तकिये के नीचे वात्स्यायन ग्रन्थ ढूँढ़ लिया!’...


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book