आठ दिन - सुरेन्द्र मोहन पाठक Aath Din - Hindi book by - Surendra Mohan Pathak
लोगों की राय

अतिरिक्त >> आठ दिन

आठ दिन

सुरेन्द्र मोहन पाठक

प्रकाशक : राजा पॉकेट बुक्स प्रकाशित वर्ष : 2008
पृष्ठ :367
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 7684
आईएसबीएन :81-7604-879-8

Like this Hindi book 9 पाठकों को प्रिय

162 पाठक हैं

सस्ते, खुरदुरे कागज में...

विकास गुप्ता ठग था। उसका कारोबार ठगी करना था जिसे वो हमेशा पूरी कामयाबी से, निहायत खूबसूरती से अंजाम देता था। कत्ल से उसका क्या वास्ता ? लेकिन वो वास्ता बना और खामखाह उसके गले पड़ा जब उसने अपनी आँखों के सामने एक कत्ल होते देखा।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book