बंद कमरा - सरोजिनी साहू Bandh Kamra - Hindi book by - Sarojini Sahu
लोगों की राय

उपन्यास >> बंद कमरा

बंद कमरा

सरोजिनी साहू

प्रकाशक : राजपाल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2010
पृष्ठ :152
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 8009
आईएसबीएन :9788170289548

Like this Hindi book 2 पाठकों को प्रिय

423 पाठक हैं

‘बंद कमरा’ लेखिका सरोजिनी साहू के बहुचर्चित ओड़िया उपन्यास "गम्भीरी घर" का हिन्दी अनुवाद है

Bandh Kamra by Sarojini Sahoo

प्रस्तुत है पुस्तक के कुछ अंश

‘बंद कमरा’ एक स्त्री और पुरुष के अनूठे रिश्ते की कहानी है। कुकी एक गृहिणी है जिसकी ई-मेल के ज़रिये पाकिस्तान के एक कलाकार से जान-पहचान होती है और यह जान-पहचान आगे चलकर दोस्ती और फिर प्रेम में बदल जाती है। यह केवल स्त्री-पुरुष की प्रेम-कहानी ही नहीं है बल्कि परिवार, समाज और देश के आपसी रिश्तों की कहानी भी है; जहां पर कहीं धर्म का टकराव है और कहीं देश का। ये सारे रिश्ते कैसे दो व्यक्तियों के अंतरंग रिश्ते पर अपनी छाप छोड़ते हैं — यही सब इस रोचक उपन्यास का विषय है।

‘बंद कमरा’ लेखिका सरोजिनी साहू के बहुचर्चित ओड़िया उपन्यास "गम्भीरी घर" का हिन्दी अनुवाद है, जिसके अंग्रेज़ी, बांग्ला और मलयालम संस्करण भी प्रकाशित हो चुके हैं। ओड़िया साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित सरोजिनी साहू एक लोकप्रिय स्त्रीवादी लेखिका हैं। यौन-संबंधो से लेकर, महिलाओं की वेदना-संवेदना तक — उन्होंने हर विषय पर बड़ी बेबाकी से लिखा है।



अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book