भूख - महाश्वेता देवी Bhookh - Hindi book by - Mahashweta Devi
लोगों की राय

सामाजिक >> भूख

भूख

महाश्वेता देवी

प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2008
पृष्ठ :173
मुखपृष्ठ : सजिल्द
पुस्तक क्रमांक : 8189
आईएसबीएन :9788171194209

Like this Hindi book 5 पाठकों को प्रिय

213 पाठक हैं

बाँग्ला से अनुवादित महाश्वेता देवी का प्रख्यात उपन्यास...

Bhookh - A Hindi Book - by Mahasweta Devi

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

प्रख्यात बाँग्ला लेखिका महाश्वेता देवी ने अन्याय के घृणित रूपों और उसके विरुद्ध चल रहे जन-संघर्ष की दहकती कथा इस उपन्यास मे पाठकों के समक्ष रखी है।

विकास और समानता के दावों के घटाटोप के नीचे असंतोष सुलगता रहता है। राजसत्ता आँख मूँदे रहती है और स्थिरता एवं शान्ति का दावा करती रहती है। जब तक असंतोष को क्रोध का रास्ता नहीं मिलता, तब तक ‘सब कुछ ठीकठाक है’ का भ्रम बना रहता है। छोटे-छोटे संघर्ष चलते रहते हैं और अभिजन यथास्थिति के मुगालते में डूबे रहते हैं। ‘भूख’ इसी कथ्य को आधार बनाकर लिखा गया उपन्यास है।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book