जिन्दगी की पिच पर - विजय चितले Zindagi ki Pich Par - Hindi book by - Vijay Chitale
लोगों की राय

व्यवहारिक मार्गदर्शिका >> जिन्दगी की पिच पर

जिन्दगी की पिच पर

विजय चितले

प्रकाशक : राजकमल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2013
पृष्ठ :127
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 8211
आईएसबीएन :9788183615723

Like this Hindi book 10 पाठकों को प्रिय

136 पाठक हैं

जिन्दगी की पिच पर

Zindagi ki Pich Par by Vijay Chitale

‘जिन्दगी की पिच पर’ जीवन-प्रबन्धन की तार्किक और सुरुचिपूर्ण पुस्तक है। जीवन का प्रबन्धन अनेक छोटी-छोटी बातों से होता है। अध्ययन के उपरान्त विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले व्यक्तियों के लिए अनुभवी लेखक विजय चितले ने इस पुस्तक की रचना की है। लेखक का मानना है कि यदि निर्णय लेना, सन्देश वाहन, प्रेरणा, संघर्ष का हल, उत्पादक कार्य, समय प्रबन्धन आदि विषयों को लेकर विद्यार्थियों के भीतर बुनियादी समझ विकसित हो सके तो आगे की राह सुगम और सफल हो जाएगी। पुस्तक के हर अध्याय में एक केन्द्रीय विचार है। विचार का वर्णन काव्यात्मक शैली में है जो सीधे हृदय में उतर जाता है। आज के व्यस्त और स्पर्धा भरे समय में जीने की कला सिखलाती एक सरल और विरल पुस्तक।



अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book