मुकुल तथा अन्य कविताएं - सुभद्रा कुमारी चौहान Mukul Tatha Anya Kavitayen - Hindi book by - Subhadra Kumari Chauhan
लोगों की राय

अतिरिक्त >> मुकुल तथा अन्य कविताएं

मुकुल तथा अन्य कविताएं

सुभद्रा कुमारी चौहान

प्रकाशक : सरल प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2011
पृष्ठ :160
मुखपृष्ठ :
पुस्तक क्रमांक : 8545
आईएसबीएन :0

Like this Hindi book 5 पाठकों को प्रिय

111 पाठक हैं

मुकुल तथा अन्य कविताएं पुस्तक का किंडल संस्करण...

Mukul Tatha Anya Kavitayen - A Hindi Ebook By Subhadra Kumari Chauhan

किंडल संस्करण


सब दुखहरन सुखकर परम हे नीम! जब देखूं तुझे।
तुहि जानकर अति लाभकारी हर्ष होता है मुझे।।

यह सुभद्रा की पहली कविता है, जब उनकी उम्र नौ साल की थी।

बची हुई हैं स्मृति की ये कलियाँ कर लेना इनको स्वीकार
ठुकराना मत इन्हें जानकर मेरा छोटा-सा उपहार

इस संकलन में ‘मुकुल’ की कविताओं के अतिरिक्त अनेक अन्य कविताएँ हैं जो मुख्यत: ‘त्रिधारा’ और बंगीय हिन्दी परिषद् द्वारा प्रकाशित ‘बुन्देलों हरबोलों के मुँह’ से ली गयी हैं।
इस पुस्तक के कुछ पृष्ठ यहाँ देखें।

प्रथम पृष्ठ

अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book