रघुवंश - कालिदास Raghuvansh - Hindi book by - Kalidas
लोगों की राय

श्रंगार - प्रेम >> रघुवंश

रघुवंश

कालिदास

प्रकाशक : राजपाल एंड सन्स प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :120
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 9126
आईएसबीएन :9788170283706

Like this Hindi book 5 पाठकों को प्रिय

368 पाठक हैं

रघुवंश...

Raghuvansh - A Hindi Book by Kalidas

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

‘रघुवंश’ संस्कृत साहित्य का एक उत्कृष्ट महाकाव्य है जिसमें रघु के वंश को विस्तृत गाथा कही गई है। उल्लेखनीय बात यह हैं कि महाकवि कालिदास ने महान और यशस्वी राजा दिलीप की तपस्या, रघु के पराक्रम और राम के अलौकिक व्यक्तित्व का वर्णन जिस खूबसूरती से किया है, उसी बेबाकी से उनके व्यसनी और निर्बल उत्तराधिकारियों का वर्णन भी किया है। महाकवि कालिदास ‘उपमा’ के लिए विश्वप्रसिद्ध हैं और इस पुस्तक में उपमा के अनेक सुन्दर श्लोक हैं। ‘अभिज्ञान शाकुन्तल’ और ‘मेघदूत’ जैसे महाकाव्यों की ही श्रेणी में है ‘रघुवंश’ जिसे पढने का आनन्द अब हिन्दी में भी आप ले सकते हैं।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book