आंखों देखा गदर - अमृतलाल नागर Ankhon Dekha Gadar - Hindi book by - Amritlal Nagar
लोगों की राय

ऐतिहासिक >> आंखों देखा गदर

आंखों देखा गदर

अमृतलाल नागर

प्रकाशक : राजपाल एंड सन्स प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :120
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 9176
आईएसबीएन :9788170287315

Like this Hindi book 10 पाठकों को प्रिय

58 पाठक हैं

आंखों देखा गदर...

Ankhon Dekha Gadar - A Hindi Book by Amritlal Nagar

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

आँखों-देखा रोमांचक विवरण - महारानी लक्ष्मीबाई, तात्या टोपे इत्यादि के वास्तविक चित्रण - इसे एक मराठा ब्राह्मण ने, जो उन्हीं दिनों उत्तर भारत की यात्रा पर निकले थे और अनजाने गदर की हलचलों में फँस गये थे, लिखा, और प्रसिद्ध हिन्दी कथाकार अमृतलाल नागर ने अनुवाद कर प्रस्तुत किया।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book